पुरुष – लिंग आकार और लंबाई (Male Penis Size and Length)

लिंग कई आकार और लंबाई के होते हैं। और वे सभी अलग-अलग दिखते हैं: सीधा, टेढ़ा, लंबा, मोटा, पतला, खतना किया हुआ, बिना खतना के। इनमें से कोई किसी अन्य से बेहतर नहीं होता है। लिंग किसी भी एक तरफ़ झुका या तिरछा हो सकता है।

बिना तनी हुई अवस्था में अक्सर लिंग की लंबाई 6 से लेकर 13 से.मी. तक हो सकती है। तना हुआ लिंग लगभग 12 से 21 से.मी. तक लंबा हो सकता है। बड़े लिंगों की तुलना में छोटे लिंग तनाव में आने पर अधिक बढ़ते हैं।

कुछ लड़के अपने या दूसरे लोगों के लिंगों के आकार को लेकर काफी मज़ाक करते हैं। अक्सर ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वे अपने-आपको असुरक्षित महसूस करते हैं, या वे अपने को बलवान जताना चाहते हैं, या अपने आपको ज़्यादा जानकार दिखाना चाहते हैं।

अंडकोष

अंडकोष लिंग के पीछे एक थैली में, जिसे अंडकोष थैली कहते हैं, लटकते रहते हैं।

सभी की अंडकोष थैली अलग-अलग तरह की दिखती है। यह बड़ी, छोटी, सिकुड़ी या बिलकुल चिकनी, बाल वाली या बिना बाल के हो सकती है।

अक्सर एक अंडकोष, दूसरे से कुछ नीचे लटकता है और कभी-कभार उनका आकार भी अलग-अलग होता है।

टेस्टोस्टेरोन (Testosterone):

अंडकोष की थैली के अंदर दो अंडकोश होते हैं। आपके अंडकोष लाखों छोटे शुक्राणु कोशिकाएं पैदा करते हैं और उन्हें सुरक्षित रखते हैं। 

वे टेस्टोस्टेरोन भी बनाते हैं, एक ऐसा हार्मोन जिसके कारण लड़के शुक्राणु पैदा करते हैं और उनकी मांसपेशियां मज़बूत बनती हैं, आवाज़ भारी होती है और शरीर पर बाल आते हैं।

एक बात तो निश्चित है कि अंडकोष बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं और आसानी से उनको नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए आपको एक सलाह दी जाती है कि किसी को भी उस जगह पर चोट न पहुंचाएं।

तापमान :

जब ठंड होती है, तो आपके अंडकोष की थैली सिकुड़ जाती है। जब गर्मी होती है, तो आपके अंडकोष की थैली बढ़ जाती है।

 ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि शुक्राणु बनाने के लिए आपके अंडकोषों को एक निश्चित (सटीक) तापमान पर होना ज़रूरी होता है - आपके बाकी शरीर के तापमान से थोड़ा कम।

इसलिए जब ठंड होती है तो अंडकोष की थैली आपके अंडकोषों को दबाकर आपके शरीर के नज़दीक कर देती है जिससे कि वे गर्म रहें, और जब गर्मी होती है तो अंडकोष की थैली अंडकोषों को नीचे लटका देती है जिससे कि वे ठंडे रहें। यह सब आपके नियंत्रण में नहीं होता।

पुरस्थ ग्रंथि (प्रोस्टेट) :

पुरस्थ ग्रंथि, पुरुष जनन अंगों का एक हिस्सा है। यह वह ग्रंथि है जो वीर्य में रंगहीन द्रव पैदा करती है। यह एक छिले हुए अखरोट जितनी बड़ी हो सकती है।

1. क्या कुछ जातियों या प्रदेशों के लोगों (एथ्निक समूह) के लिंग दूसरों से बड़े होते हैं?

यह साबित करने के लिए ऐसे कोई पक्के सबूत नहीं हैं कि कुछ जातियों (एथ्निक समूह ) के सदस्यों के लिंग दूसरों से बड़े होते हैं।

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन जैसे कुछ संगठनों ने पुरुषों के तने हुए औसत लिंग के आकार में थोड़ी भिन्नता बताते हुए कहा है किः

  • अफ्रीकी मूल के पुरुषों का लिंग कुछ बड़ा और मोटा होता है
  • यूरोपीय मूल के पुरुषों का लिंग मध्यम आकार का होता है
  • एशियाई मूल के के पुरुषों का लिंग कुछ पतला और छोटा होता है

2. कितने बड़े लिंग को बड़ा कहा जा सकता है?

अमेरिकन प्लास्टिक सर्जरी एकेडेमी ने तने हुए लिंगों को मापा और पाया कि:

  • 3% पुरुषों के तने हुए लिंगों की लंबाई 7 से.मी./2.75 इंच है |
  • 4% पुरुषों के तने हुए लिंगों की लंबाई 12 से.मी./4.7 इंच है |
  • 75% पुरुषों के तने हुए लिंगों की लंबाई 15 से.मी./5.9 इंच है |
  • 15% पुरुषों के तने हुए लिंगों की लंबाई 18 से.मी./7.1 इंच है |
  • 3% पुरुषों के तने हुए लिंगों की लंबाई 20 से.मी./7.9 इंच है |

यदि आप अपने लिंग को मापना चाहते हैं, तो जब यह तना हुआ हो तब उसके ऊपरी भाग से मापें - अपने पेट के पास वाले भाग से।


Instagram
RSS
Follow by Email
Youtube
Youtube
Pinterest
LinkedIn
Telegram
WhatsApp
%d bloggers like this: