सुरक्षित सेक्स (Safe Sex)

सुरक्षित सेक्स (Safe Sex):- यदि आप चूमने एवं सहलाने से आगे बढ़ते हैं तो यह महत्वपूर्ण है की सेक्स सुरक्षित हो। या आप एक से अधिक लोगों के साथ सेक्स कर रहे हो तो कंडोम उसे करना ज्यादा सेफ है| यौन संचारित रोग जैसे HIV या फिर अनचाहे गर्भ से बचने के लिए हमेशा ही सुरक्षित सेक्स करना जरूरी है।

आगे हम देखेंगे क्या सुरक्षित है और क्या असुरक्षित है:-

यह सुरक्षित सेक्स है: 

  • सहलाना, मुख तथा जीभ का इस्तेमाल करते हुए चाटना, चूमना, गले लगाना, मालिश या मसाज करना, स्वयं का या अपने साथी का मुखमैथुन, हस्तमैथुन करना |
  • अच्छे दर्जा के महिला या पुरुष कण्डोम का इस्तेमाल करके संभोग |
  • शुक्राणु मुख में गए बिना मुखमैथुन करना |
  • महिला मासिक धर्म के समय मुखमैथुन के बिना सेक्स करना |

यह असुरक्षित सेक्स है: 

  • कण्डोम एवं अन्य किसी गर्भनिरोधन जैसे गोलियों के बिना संभोग करना |
  • कण्डोम के बिना गुदा मैथुन करना |
  • लड़कों के लिए कण्डोम के बिना मुख मैथुन और लड़कियों के लिए डेन्टल डैम (मुंह का कण्डोम) के बिना मुख मैथुन करना |
  • आपस में एक दूसरे के सेक्स के लिए खिलौने (सेक्स टॉय) को साफ़ किए बिना इस्तेमाल करना |

सेक्स का सबसे सुरक्षित तरीका डबल डच:

सेक्स का सबसे सुरक्षित तरीका डबल डच है – यानी कण्डोम एवं किसी अन्य गर्भनिरोधन जैसे गोलियों का प्रयोग। कण्डोम यौन संचारित रोग से सुरक्षा प्रदान करता है। दूसरे प्रकार का गर्भनिरोधन, जैसे गोलियाँ, अनचाहे गर्भ से बचाती हैं क्योंकि भले ही कंडोम का सही इस्तेमाल हो, दो प्रतिशत कंडोम ख़राब होते हैं।