महिला शरीर (Female Body)

इस खंड में, महिला शरीर (Female Body) के हर भाग जैसे योनि, स्तन, गुदाद्वार, मूत्रमार्ग आदि के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल कर सकते हैं।

महिला शरीर के अंग और महिला शरीर का सम्पूर्ण विवरण:-

कान (Ear) :-

कान (Ear) में तीन भाग होते हैं, १. बाहरी, २. मध्य और ३. आंतरिक भाग होते हैं। बाहरी कान को पिन्ना कहा जाता है और यह त्वचा से ढके हुए कार्टिलेज से बना होता है। बाहरी श्रवण नहर में पिन्ना के माध्यम से ध्वनि कीप, एक छोटी ट्यूब जो कि ईयरड्रम (टायम्पेनिक झिल्ली) पर समाप्त होती है।

आंखें (Eye) :-

आंखें (Eye) दृश्य प्रणाली के अंग हैं। वे मनुष्य को दृष्टि प्रदान करते हैं, दृश्य विस्तार प्राप्त करने और संसाधित करने की क्षमता के साथ-साथ कई फोटो प्रतिक्रिया कार्यों को सक्षम करते हैं जो दृष्टि से स्वतंत्र हैं। आंखें प्रकाश का पता लगाती हैं और इसे न्यूरॉन्स में विद्युत-रासायनिक आवेगों में बदल देती हैं।

नाक (Nose) :-

नाक (Nose) शरीर की गंध का प्राथमिक अंग है और शरीर के श्वसन तंत्र के हिस्से के रूप में भी कार्य करता है। वायु नाक के माध्यम से शरीर में आती है। चूंकि यह घ्राण प्रणाली की विशेष कोशिकाओं से गुजरता है, मस्तिष्क पहचानता है और गंध की पहचान करता है।

योनि (Vagina) :-

महिला के यौनांग शरीर के अन्दर एवं बाहर होते हैं। वैसे तो योनि (Vagina) शब्द का प्रयोग अक्सर महिला के जननांग या यौनांग के लिए किया जाता है लेकिन योनि यौनांगों का सिर्फ एक भाग होता है। योनि एक नली या द्वार है जो बाहरी यौनांगों को भीतरी यौनांगों से जोड़ती है।

छाती (Chest) :-

मनुष्यों के शरीर के ऊपरी अग्र भाग, पेट और गर्दन के बीच के भाग को छाती (Chest) कहते है|

स्तन (Breast) :-

स्तन (Breast) अलग-अलग आकार, माप व रंग के हो सकते हैं। निप्पल के आकार व रंग में भी काफ़ी अंतर हो सकता है।

गुदाद्वार (Anus) :-

महिला – गुदाद्वार (Female Anus) गुदा द्वार आपके पेट का बाहरी रास्ता है। जहाँ आतें खुलती हैं, उसे गुदा द्वार कहते हैं, जहाँ से पेट का सारा पचा हुआ खाना मल स्वरुप बाहर निकलता है। गुदा द्वार के आस पास छोटे बाल होते हैं। गुदा द्वार काफी संवेदनशील होता है।